Vrindavan Prachya Vidya Sanrakshan Evam Sodh Sansthan, Allahabad

Message

मैं उस सास्वत सत्य की आराधना करता हूँ। 
जो सारे चर अचर का रचयिता है।
और सारे जीवो का पालक एवं संधारक-संरक्षक है।
जिसे लोग अलग-अलग नामों से संबोधित करते हैं।
कोई खुदा कहता है, कोई भगवान कहता है और कोई उसे गॉड कहता है।
मैं एक अत्यंत अल्पज्ञानी एवं तुच्छ उसी की कृति हूँ।
अतः उसी से यह कामना करता हूँ कि मेरा जीवन इह लोक और परलोक दोनों में सफल करें।